Frequently Asked Questions for Kanthasth

Table of Contents

1. कंठस्थ के बारे में संक्षेप में बताइए।. 3

1.    What is Kanthasth?. 3

2. मेरे द्वारा भरी गई सभी सूचनाएं सही हैं, फिर भी लॉग-इन नहीं हो पा रहा है! 3

2.    I am filling correct credentials, still can't login! 3

3. कंठस्थ में पंजीकरण संबंधी समस्या का क्या कारण हो सकता है?. 3

3.    Facing problem while registering in Kanthasth?. 4

4. पासवर्ड भूल जाने पर क्या किया जाना चाहिए?. 4

4.    How to recover the password?. 4

5. लॉग-इन होने के बाद अब इस सिस्टम में कार्य कैसे करना है?. 4

5.    How to get started with Kanthasth after login?. 5

6.  किस बटन से क्या कार्य किया जा सकता है, यह कैसे जाना जाए?. 5

6.    How can I know what does a button do?. 5

7. इस सिस्टम में प्रोजेक्ट से क्या तात्पर्य है?. 5

7.    What is a project?. 6

8. सिस्टम में नया प्रोजेक्ट बनाया कैसे जाता है?. 6

8.    What are the steps to create a project?. 6

9. प्रोजेक्ट बनाने के बाद अब इसमें फोल्डर कैसे बनाया जाए?. 6

9.    How to create a folder in a project?. 7

10. क्या एक से ज्यादा प्रोजेक्ट बनाए जा सकते हैं?. 7

10.      Can I create more than one project?. 7

11. सिस्टम में नई टी.एम. कैसे बनाई जाती है?. 7

11.      How to create a TM?. 8

12. क्या एक फोल्डर में एक से अधिक टी.एम. बनाया जाना संभव है?. 8

12.      What if I create many TMs in same folder?. 8

13. प्राथमिक टी.एम. की बजाए किसी द्वितीयक टी.एम. में वाक्यों को कैसे सेव किया जा सकता है?. 8

13.      How can I save my source-target pairs in a TM other than the primary TM?. 9

14. फोल्डर बनाने के बाद उसमें फाइल कैसे जोड़ी जा सकती हैं?. 9

14.      How can I add files in the folder after the creation of the folder?. 9

15. पहले से विद्यमान टी.एम. को सिस्टम में कैसे अपलोड किया जा सकता है?. 9

15.      How to upload existing TM?. 9

16. सिस्टम में विद्यमान टी.एम. में अपडेट कैसे किया जा सकता है?. 10

16.      How can I update existing TM?. 10

17. लोकल डेटा/टी.एम. एवं ग्लोबल डेटा/टी.एम. में क्या अंतर होता है?. 10

17.      What is difference between local and global Data/TM?. 10

18. लोकल टी.एम. को ग्लोबल टी.एम. में कैसे जोड़ा जा सकता है?. 10

18.      How can I upload my local data to the Global TM?. 11

19. मैंने किसी समय-विशेष में कितना कार्य किया है, क्या यह जाना जा सकता है?. 11

19.      How to see the workdone by me within a duration of time?. 11

20. क्या प्रयोगकर्ता द्वारा पहले से किए गए अनुवाद-कार्य का पुनः प्रयोग संभव है?. 12

20.      Can I use   the workpreviously done by me?. 12

21. अनुवाद हो जाने के बाद जो फाइल डाउनलोड की जाती है, उसका फार्मेट क्या रहता है?. 12

21.      In whichformat canI bilingually export my file?. 12

22. एडिटर पर 'Copy source to Target' बटन का क्या कार्य है?. 12

22.      What is the need of ‘copy source to target button’?. 12

23. क्या विभिन्न पृष्ठों पर उपलब्ध सारणियों (Tables) को समायोजित किया जा सकता है?. 13

23.      Can I customize the tables on the screen?. 13

24. इस सिस्टम में फाइल का अनुवाद किस तरह किया जाता है?. 13

24.      How to translate a file?. 14

25. त्वरित अनुवाद क्या है और यह कैसे किया जाता है?. 14

25.      How to do instant translation?. 14

26. यदि फाइल को सेव किए बिना ही एडिटर को बंद कर दिया जाए तो क्या पूरा ही कार्य नष्ट हो जाता है?  15

26.      Will I lose my current work progress  if I close the file without saving?. 15

27. किसी वाक्य का अनुवाद टी.एम. से 100% मिलता है, यह कैसे पता चलता है?. 15

27.      How to identify the perfect match or exact match?. 15

28. आंशिक मिलान को कैसे बेहतर बनाया जा सकता है?. 15

28.      How to improve the results of Fuzzy Match?. 16

29. अनुवाद हो जाने के बाद फाइल डाउनलोड करते समय 'File does not exist' संदेश का क्या तात्पर्य है?  16

29.      Getting "File does not exist" message when I am doing bilingual export?. 16

30. सिस्टम से किसी फाइल/फोल्डर/प्रोजेक्ट/टी.एम. को हटाने का तरीका क्या है?. 16

30.      How can I delete a file/folder/project/TM?. 16

31.  एक प्रयोगकर्ता अपने कार्य को दूसरे प्रयोगकर्ता से साझा किस प्रकार कर सकता है?. 17

31. How can I share my work to some other person?. 17

32. अनुवादित फाइल को डाउनलोड कैसे किया जाता है?. 17

32. How can I download the translated file?. 17

33. प्रोफाइल को अद्यतन कैसे किया जा सकता है?. 18

33. How can I update my profile?. 18

 


 

1. कंठस्थ के बारे में संक्षेप में बताइए।

उत्तर: 'कंठस्थ' वस्तुतः ट्रांसलेशन मेमोरी (टी.एम.) पर आधारित इस मशीन अनुवाद सिस्टम को दिया गया एक नाम है। ट्रांसलेशन मेमोरी मशीन-साधित अनुवाद प्रणाली का एक भाग है जिससे अनुवाद की प्रक्रिया में सहायता मिलती है। ट्रांसलेशन मेमोरी वस्तुतः एक डेटाबेस है जिसमें स्रोत भाषा (Source language) के वाक्यों एवं लक्षित भाषा (Target language) में उन वाक्यों के अनुवादित रूप को एक-साथ रखा जाता है। ट्रांसलेशन मेमोरी पर आधारित इस सिस्टम की मुख्य विशेषता यह है कि इसमें अनुवादक पूर्व में किए गए अनुवाद को किसी नई फाइल के अनुवाद के लिए पुनः-प्रयोग कर सकता है। यदि अनुवाद की नई फाइल का वाक्य टी.एम. के डेटाबेस से पूर्णतः अथवा ंशिक रूप से मिलता है तो यह सिस्टम उस वाक्य के अनुवाद को टी.एम. से लाता है।

1.                  What is Kanthasth?

Ans. Kanthasth is basically a name given to this Machine Translation (MT) system. This MT system is based on Translation Memory (TM) approach. Translation memory  is a feature of computer-aided translation system which helps in the translation process. A translation memory is basically a database which stores the translated data in the form of aligned source-language and target-language segments. The main characteristic of the Translation memory system is that it allows a translator to re-use the already translated segments while translating a new file, either through complete match or partial match in TM.

 

2. मेरे द्वारा भरी गई सभी सूचनाएं सही हैं, फिर भी लॉग-इन नहीं हो पा रहा है!

उत्तर: यह सिस्टम लोडिंग में समस्या के कारण हो सकता है। इसके लिए पहले पेज को 'रिफ्रेशकरें। यदि इसके बाद भी लॉग-इन न हो पाए तो ब्राउजर की 'कैश मेमोरीको मिटाकर लॉग-इन करें।

2.                  I am filling correct credentials, still can't login!

Ans. This may happen due to the loading problem. First, try refreshing the page. If page-refreshing does not work, clean the browser's cache memory and try logging in again.

 

3. कंथस्थ के साथ कैसे शुरुआत करें?

उत्तर: लॉग-इन करने के बाद आपको निम्न प्रकार से कार्य शुरु करना है:

·         सबसे पहले एक प्रोजेक्ट बनाएं, उदाहरण के लिए 'प्रोजेक्ट 1' (इस बारे में विस्तार से जानने के लिए प्र. 8 देखें)

·         उस प्रोजेक्ट में एक फोल्डर बनाएं, उदाहरण के लिए, 'प्रोजेक्ट1_फोल्डर1' (इस बारे में विस्तार से जानने के लिए प्र. 9 देखें)

·         अब इस फोल्डर में अपने सिस्टम से अनुवाद के लिए फाइल अपलोड करें। फाइल सही से अपलोड होने पर एक संदेश आएगा।

·         यह फाइल अब फाइल की सारणी (Table) में दिखाई देगी। इस फाइल को अनुवाद के लिए एडिटर में खोलने के लिए इस पर दो बार क्लिक करें। इस एडिटर पर ही फाइल का अनुवाद किया जाता है। (इस बारे में विस्तार से जानने के लिए प्र. 25,26 देखें)

3.                  How to get started with Kanthasth ?

Ans. To start working on this system, the user should do the following steps:

¾                 Create a new project say "project1”. See Q.8  to find out details of creating a new project.

¾                 Create a new folder within that, let's say it "project1_folder1". See Q.9  to get details of creating a folder.

¾                 Now in the folder "project1_folder1", you can upload a file by choosing the button given above the table. Choose the file from your computer's file system. If successfully uploaded, you will get a message of success.

¾                 The recently loaded file can be seen in the file table. Double click on the name of the file to open it into the translation editor. Translation Editor is the actual area where the file will be translated. See Q.25 &26  for the detailed process of translation process in the editor.

4.  किस बटन से क्या कार्य किया जा सकता है, यह कैसे जाना जाए?

उत्तर: यह काफी आसान है। आप जिस बटन के बारे में जानना चाहते हैं, उसके ऊपर माउस को कुछ देर के लिए रोकिए। ऐसा करने पर उस बटन के पास ही उसके बारे में सूचना दिखाई देगी।

4.                  How can I know what does a button do?        

Ans.  This is an extremely simple task. Just take the mouse pointer above the button you want to check. The functionality of that button will be shown near the button itself.

5. इस सिस्टम में प्रोजेक्ट से क्या तात्पर्य है?

उत्तर: इस सिस्टम की संरचना में प्रोजेक्ट आपस में संबंधित विभिन्न फोल्डरों एवं फाइलों को व्यवस्थित रखने की एक इकाई है, ठीक उसी तरह जिस प्रकार कि हम अपने कम्प्यूटर में एक फोल्डर में अनेक संबंधित फाइलें एक साथ रखते हैं। प्रयोगकर्ता को सबसे पहले एक प्रोजेक्ट बनाना है तथा उसके अंदर फोल्डर बनाने हैं। प्रयोगकर्ता अपनी आवश्यक्ता के हिसाब से अनेक प्रोजेक्ट बना सकता है।

5.                  What is a project?

Ans. Conceptually, a project can be considered as being similar to a folder on a computer in which all the related files are arranged together. To use this system, the user should create a project under which the folders will be created. Here, the user can create several projects according to the requirements.

6. सिस्टम में नया  प्रोजेक्ट बनाया कैसे जाता है?

उत्तर: नया प्रोजेक्ट बनाने के लिए, सिस्टम के इनबॉक्स में प्रोजेक्ट पृष्ठ पर 'नया प्रोजेक्ट बनाएंबटन है। इसे क्लिक करने पर एक नया पृष्ठ खुलेगा, जहाँ प्रोजेक्ट का नाम एवं विवरण लिखें। इसके बाद ‘Create Project’ बटन दबाएं।

6.                  What are the steps to create a project?

Ans. To create a new project, there is a ‘Create A New Project’ button in the inbox’s project view. On clicking this button, a new window will open in which the user needs to enter the project name and description. After entering this detail, click on the 'Create Project' button.

7. प्रोजेक्ट बनाने के बाद अब इसमें फोल्डर कैसे बनाया जाए?

उत्तर: कोई भी फोल्डर किसी प्रोजेक्ट के अंदर ही बनाया जाता है। प्रोजेक्ट बनाने के बाद फोल्डर बनाने के निम्नलिखित चरण हैं:

1.                  जिस प्रोजेक्ट में फोल्डर बनाना है, उस पर क्लिक करें। इससे एक नई टेबल खुलेगी जिसमें फोल्डर बनाने के लिए दिए गए बटन पर क्लिक करें।

2.                  इस फोल्डर को कोई नाम दें (यह अनिवार्य है) एवं उससे संबंधित संक्षिप्त विवरण लिखें (यह अनिवार्य नहीं हैं)

3.                  दिए गए ड्राप-डाउन बॉक्स से उस प्रोजेक्ट का नाम चुनें जिसके अंतर्गत नया फोल्डर बनाना है।

4.                  इसके बाद, पहले से विद्यमान ट्रांसलेशन मेमोरी को चुनें अथवा नई बनाएं।

5.                  अब, जिस फाइल का अनुवाद करना है, उसे अपलोड करना है। यहाँ एक से अधिक फाइल को अपलोड किया जा सकता है अथवा फाइल को बाद में भी अपलोड किया जा सकता है।

6.                  उपर्युक्त चरणों के बाद, ‘Create Folder’ बटन दबाएं।

7.                  How to create a folder in a project?

Ans.  A folder is created inside a project. After the user has created a project, the following steps should be followed to create a folder:

1. Open that project by clicking on the project name. A new table will open, above this there is a button given to create a new folder. Click on that button.

2. Give the name to this folder (this is mandatory) and write its purpose in the description box (this is optional).

3. Next, there is a drop-down menu, here choose the project for which this folder is being created.

4. Then you can create a TM or add a previously existing TM.

5. Next you have to choose a file for which you have to perform translation. You have the liberty to choose the file later also. Here you can also choose multiple files.

6. After all the above steps are done, click on CREATE FOLDER button.

8. क्या एक से ज्यादा प्रोजेक्ट बनाए जा सकते हैं?

उत्तर: हाँ, एक प्रयोगकर्ता एक से अधिक प्रोजेक्ट बना सकता है। परन्तु ध्यान यह रखें कि सभी प्रोजेक्ट के नाम अलग-अलग हों।

8.                  Can I create more than one project?

Ans.  Yes, a user can create more than one project. But the name of all the projects must be distinct .

9. सिस्टम में नई टी.एम. कैसे बनाई जाती है?

उत्तर: नई टी.एम. दो तरह से बनाई जा सकती है:

फोल्डर बनाते समय: जब हम फोल्डर बनाते हैं तो उस पृष्ठ पर ‘Create TM’ नाम का एक बटन होता है। इस बटन को दबाएं एवं नया पृष्ठ खुलने पर उसमें ट्रांसलेशन मेमोरी का नाम लिखें तथा स्रोत एवं लक्षित भाषा चुनें। यदि आप इसे प्राथमिक मेमोरी बनाना चाहते हैं तो बॉक्स में विकल्प चुनें। बॉक्स में विकल्प चुनने पर वह द्वितीयक ट्रांसलेशन मेमोरी रहेगी। एक प्रोजेक्ट में एक से अधिक टी.एम. बनाई जा सकती हैं, परन्तु प्राथमिक मेमोरी केवल एक ही हो सकती है।

 

पहले से बने फोल्डर में: यहाँ भी टी.एम. बनाने के चरण ऊपर जैसे ही रहेंगे। अंतर केवल इतना है कि इस प्रक्रिया में केवल द्वितीयक मेमोरी ही बनाई जा सकती है क्योंकि यहाँ प्राथमिक मेमोरी बनाने का विकल्प ही नहीं होता है।

9.                  How to create a TM?

Ans.  A user can create a Translation memory in two ways-

1. At the time of creating a new folder: During the creation of a new folder, there will be a button ‘Create TM’. After clicking on this button, a dialog box will open in which the user will have to add the name of the TM as well as the source and the target language. The page will also have a checkbox to make the TM as a primary TM. The user can create more than one TM in this step, but primary TM will be checked for only one TM.

Once the user completes the above procedures, he/she should click on the Create TM button. This

2. Inside an already created folder. The process to create TM will be the same as above. The only difference will be that TM created here will be the Secondary TM only as here the user does not have the checkbox to set it as Primary TM

10. क्या एक फोल्डर में एक से अधिक टी.एम. बनाया जाना संभव है?

उत्तर: हाँ, यह संभव है। इसके लिए आपको किसी एक टी.एम. को प्राथमिक टी.एम. के रूप में निर्धारित करना होगा एवं अन्य सभी टी.एम. द्वितीयक टी.एम. रहेंगी। प्रयोगकर्ता द्वारा वाक्यों को टी.एम. में सेव करने पर वह प्राथमिक टी.एम. में ही सेव होंगे।

10.              What if I create many TMs in same folder?

Ans. You can create more than one TM in the same folder. In such case, you have to mark at least one of the TMs as "primary" while the others will be  as "secondary TMs". This primary TM will hold all the committed source-target pair.

11. प्राथमिक टी.एम. की बजाए किसी द्वितीयक टी.एम. में वाक्यों को कैसे सेव किया जा सकता है?

उत्तर: मूलतः तो वाक्य-युग्म प्राथमिक टी.एम. में ही सेव होते हैं, तथापि यदि प्रयोगकर्ता पहले से निर्धारित प्राथमिक टी.एम. के अतिरिक्त किसी अन्य टी.एम. में वाक्य सेव करना चाहता है तो उसे उस टी.एम. को प्राथमिक बनाना होगा। इसके निम्नलिखित चरण हैं:

1. फाइल एडिटर में जाएं

2. 'प्रोजेक्ट समायोजन' बटन पर क्लिक करें

3. जिस टी.एम. को प्राथमिक बनाना है, उसे चुनकर 'set as primary' button दबाएं एवं उसके बाद 'Save Changes' बटन दबाएं

11.              How can I save my source-target pairs in a TM other than the primary TM?

Ans.  By default, all the committed source-target pairs are saved in the primary TM only. If the user wants to save source-target pair in one of the secondary TM, then that secondary TM should be first changed as the primary TM. Steps to set a TM as primary are as follows:

            1. Go to the file editor view.

            2. Click on the ‘Editor setting’ button.

            3. Select the Secondary TM which is to be made as Primary TM and then click ‘Set As Primary’ button. After changing TM, click ‘Save Changes’ button.

 

12. फोल्डर बनाने के बाद उसमें फाइल कैसे जोड़ी जा सकती हैं?

उत्तर : ऐसा हो सकता है कि आपको पहले से बने हुए किसी फोल्डर में कोई नई फाइल जोड़नी है। इसके लिए सबसे पहले फोल्डर पेज खोलें। नई फाइल जोड़ने के लिए फाइल की टेबल के ऊपर उपलब्ध 'फोल्ड़र में फाइल जोड़ें' बटन दबाएं। इससे एक नया बॉक्स खुलेगा, जहाँ पर इच्छित फाइल का चयन कर 'upload' बटन दबाएं।

12.              How can I add files in the folder after the creation of the folder?

Ans. There may be a scenario where the user has already created a project with required number of files and want to add some new files after creating the folder. For this, the user should click on 'Add Files to folder' button in folder page.  A new window will open where the user should click on 'Choose file' button. After selecting the file, the user should click on 'upload' button

13. पहले से विद्यमान टी.एम. को सिस्टम में कैसे अपलोड किया जा सकता है?

उत्तर: पहले से विद्यमान यह टी.एम. या तो आपके किसी अन्य सिस्टम पर हो सकती है अथवा किसी अन्य प्रयोगकर्ता द्वारा आपको प्राप्त हो सकती है। अब आप इसका उपयोग अपने सिस्टम में करना चाहते हैं एवं आपके द्वारा किए गए अनुवाद को भी इसी में सेव करना चाहते हैं। इसके लिए आपको पहले किसी प्रोजेक्ट, फिर उसके अंदर के किसी फोल्डर एवं उसके बादटी.एम. जोड़ेंबटन पर क्लिक करना है। अब, टी.एम. का चयन कर ‘upload’ बटन दबाएं। यहाँ टी.एम. के लिए फाइल का एक्सटेंशन केवल .TMx, .xls अथवा .xlsx ही हो सकता है।

13.              How to upload existing TM?

Ans. The provision of uploading existing TM is useful If you already have a TM (generated on some other machine by you or by another user) and you want to upload that TM in your system and further save your translation work in that TM only. For this, the user should click on project, then folder and then click on ‘Add TM’ button. After this, select specific TM and press ‘upload’ button Here the permissible file extensions for the TM file are: TMx, .xls and .xlsx only.

 

14. सिस्टम में विद्यमान टी.एम. में अपडेट कैसे किया जा सकता है?

उत्तर: टी.एम. में अपडेट की आवश्यक्ता तब होती है जब आपको टी.एम. में विद्यमान स्रोत अथवा लक्षित भाषा के किसी वाक्य में बदलाव करना हो। इसके लिए पेज के सबसे ऊपरी भाग में उपलब्ध ‘Show TM’ बटन को क्लिक करें। इससे सिस्टम में उपलब्ध टी.एम. की सूची दिखाई देगी। अब, जिस टी.एम. में बदलाव करना हो, उस पर दो बार क्लिक करें। टी.एम. में आवश्यक बदलाव के बाद ‘update’ बटन दबाएं।

14.              How can I update existing TM?

Ans. The update in existing TM is required when the user wants to make changes in already saved source and target sentences. For this, the user should click on the ‘Show TM’ button on the top right menu ribbon, and double click to open the TM which is to be updated., the TM will be opened for the updating. After making the changes, click ‘Update’ button to apply the changes.

15. लोकल डेटा/टी.एम. एवं ग्लोबल डेटा/टी.एम. में क्या अंतर होता है?

उत्तर: इस सिस्टम का प्रत्येक प्रयोगकर्ता लोकल टी.एम. के साथ-साथ ग्लोबल टी.एम. से अनुवाद प्राप्त कर सकता है, लेकिन वह कोई भी बदलाव सिर्फ लोकल टी.एम. में ही कर सकता है क्योंकि यह लोकल टी.एम. प्रत्येक प्रयोगकर्ता के अकांउट से अलग-अलग रूप से जुड़ी हुई होती है। प्रत्येक प्रयोगकर्ता जब भी कोई कार्य सेव करता है, वह उसकी लोकल टी.एम. में ही सेव होता है। इस लोकल टी.एम. को केवल वही प्रयोगकर्ता देख सकता है। लेकिन लोकल टी.एम. को परीक्षण के पश्चात् ग्लोबल टी.एम. में शामिल किया जा सकता है।

15.              What is difference between local and global Data/TM?

Ans. A particular user can access and update only the Local TM/data, dedicated to his/her account,  whereas all the users of the Kanthasth system can access the Global TM/data. By default, all the data is saved in the local TM dedicated to that user only. No one else can see his data. But if a user wants to upload the data to the global TM, he/she can also do so.

16. मैंने किसी समय-विशेष में कितना कार्य किया है, क्या यह जाना जा सकता है?

उत्तर : हाँ, अवश्य ही। इसके लिए आपको पृष्ठ के सबसे ऊपरी भाग में दिए गए 'Report' बटन को क्लिक करना है। अब, यहाँ जिस दिनांक से जिस दिनांक तक की रिपोर्ट चाहिए, उसका चयन करना है एवं प्रोजेक्ट/फोल्डर/फाइल/टी.एम. - इनमें से जिसके बारे में रिपोर्ट जाननी है, उसके सामने दिए गए बॉक्स में क्लिक करना है। इसके बाद, 'Get Data' बटन दबाएं। आपको संबंधित रिपोर्ट उसी पेज पर दिखाई देगी।

16.              How to see the work done by me within a duration of time?

Ans. If a user wants to see what all translation work he/she has done within a particular period of time, he should click on ‘Report’ button on the top right menu ribbon, then select the duration and the entity viz., Project, Folder, File or TM for which the details is required After selecting these two, click on ‘Get Data’ button. A report will be displayed on the same page.

17. क्या प्रयोगकर्ता द्वारा पहले से किए गए अनुवाद-कार्य का पुनः प्रयोग संभव है?

उत्तर : हाँ, यह संभव है। इसके लिए पहले से किए गए कार्य को zipped folder में सेव करके किसी भी सिस्टम में ले जाया जा सकता है।

17.              Can I use   the work previously done by me?

Ans. Previously done work can be exported in compressed format and taken to any system for reuse.

18. अनुवाद हो जाने के बाद जो फाइल डाउनलोड की जाती है, उसका फार्मेट क्या रहता है?

उत्तर : यह फाइल Microsoft Word फार्मेट में होती है। इस फाइल में एक सारणी (Table) होती है जिसके पहले कॉलम में स्रोत वाक्य (Source sentence), दूसरे कॉलम में लक्षित वाक्य (Target sentence) तथा तीसरे कॉलम में उस वाक्य के टी.एम. से मिलान का प्रतिशत होता है।

18.              In which format can I bilingually export my file?

Ans. A file can be exported bilingually in the Microsoft English office word format. This file contains a tabular representation in which the first column has source file contents, second column has translated content and the third column contains the percentage match.

19. एडिटर पर 'Copy source to Target' बटन का क्या कार्य है?

उत्तर : अनुवाद किए जाने वाले वाक्य में यदि केवल संख्याएं, जैसे कि दिनांक, समय, मुद्राएं, आई.डी इत्यादि अधिक हों अथवा वाक्य में केवल इस प्रकार की संख्याएं ही हों तथा अनुवाद में यह संख्याएं उसी रूप में ही चाहिए हों तो यह बटन उपयोगी है। इस बटन के द्वारा इन संख्याओं का अनुवाद किए बिना उन्हें Source column से Target column में copy किया जा सकता है।

 

19.              What is the need of ‘copy source to target button’?

Ans. In the cases where the source segments contain less alphabetical text and has a large proportion of numerical values such as date, time, currency, registration numbers, IDs etc., then this button is useful. Through this button, these numerical values are not translated and copied as it is in the target column.

 

20. क्या विभिन्न पृष्ठों  पर उपलब्ध सारणियों (Tables) को समायोजित किया जा सकता है?

उत्तर : हाँ, ऐसा किया जा सकता है। इस सिस्टम में प्रोजेक्ट, फोल्डर, फाइल, टी.एम.- इन सभी को सारणी (Table) के फार्मेट में ही रखा गया है। हालांकि इन सारणियों को अनेक headers में बाँटा गया है तथापि प्रयोगकर्ता इन सारणियों को अपने हिसाब से भी समायोजित कर सकता है। इसके लिए आपको सारणी के ऊपर दिए गए + बटन को दबाना है, इससे एक ड्राप-डाउन बॉक्स में अनेक headers दिखाई देंगे, जिनके आधार पर सारणी को समायोजित किया जा सकता है।

20.              Can I customize the tables on the screen?

Ans. In this system, the projects, folders, files, T.M. are shown in the form of tables with headers,  showing maximum required information. Although, each and every column of the table describes the important attributes, but still the user can customize the table.  For this, the user should click on the ‘+' button given above the table.  With this, a menu of properties will be shown as drop-down button. From here, the user can select only the properties he/she wants to see in the table.

21. इस सिस्टम में फाइल का अनुवाद किस तरह किया जाता है?

उत्तर: सबसे पहले प्रयोगकर्ता को फोल्डर से अनुवाद के लिए फाइल का चयन करके उसे एडिटर में खोलना है। एडिटर में वह फाइल सारणी (Table) रूप में वाक्यों में विभाजित रहती है। यहाँ अनुवाद के लिए दो विकल्प हैं (i) एक-एक वाक्य या किसी वाक्य विशेष का अनुवाद करना (ii) सभी वाक्यों का एक साथ अनुवाद करना। जिस वाक्य का अनुवाद करना है, उसके सामने अनुवाद के लिए एक बटन है, तथा पूरी फाइल के अनुवाद के लिए 'पूर्ण अनुवादका एक बटन है। यदि वाक्य का अनुवाद टी.एम. से प्राप्त होता है तो वह अनुवाद target segment column में दिखाई देगा।

 

अनुवाद के लिए यह सिस्टम स्रोत भाषा के वाक्य का टी.एम. के वाक्यों के साथ मिलान करता है। यह मिलान दो प्रकार से हो कता है : (i) पूर्ण मिलान (Perfect Match) एवं (ii) आंशिक मिलान (Fuzzy Match) यदि कोई वाक्य टी.एम. के वाक्य से 100% मिलता है तो यह पूर्ण मिलान है। 100% मिलान की स्थिति में target column हरे रंग में रहेगा। यदि यह मिलान पूरी तरह से नहीं होता है तो सिस्टम लगभग मिलते जुलते वाक्यों पर संगणकीय गणना करके अनुवाद देता है। इस प्रकार के मिलान को आंशिक मिलान (Fuzzy Match) कहते हैं। इसमें वाक्यों का एक नियत प्रतिशत तक मिलान देखा जाता है। एडिटर पर Score column में सिस्टम वास्तविक मिलान के प्रतिशत को दिखाता है। यदि किसी वाक्य का पूर्णतः अथवा आंशिक मिलान नहीं होता है तो उस वाक्य के target column में 'No translation available' लिखा रहता है।

21.              How to translate a file?

Ans. To translate a file, the user has to decide a file in a specific folder of a specific project. Once the file is decided, the user should open the file in the editor. In the editor, the content of the file is shown in tabular format and are split in segments. Here the user has two options: (i) to translate a particular sentence and (ii) to translate all the sentences altogether. To translate an individual sentence, there is a button in front of that sentence and to translate the complete file, ‘Translate all’ button is available in the table. If the translation is available for a sentence in the TM, then it will be shown in the corresponding target segment.

For translation, the system will match the source sentence with the TM sentences. This match will be in two ways: (i) Perfect Match and (ii) Fuzzy match. If the source sentence is matched 100% with the TM sentence, then it will be as Perfect Match. In this case, the target column will be shown in green colour. If the source sentence is not exactly present in the TM, then the system will apply mathematical calculations on the similar source sentence to get the desired translation. This type of matching is called Fuzzy Match. A threshold percentage of matching is set in the system for fuzzy match. In the score column, the percentage of match is also mentioned. If a sentence is neither completely matched nor matched as per the threshold limit, then its target column will be marked as ‘No translation available’.

 

22. त्वरित अनुवाद क्या है और यह कैसे किया जाता है?

उत्तर: यदि प्रयोगकर्ता सिस्टम में बिना प्रोजेक्ट एवं फोल्डर बनाए किसी फाइल का अनुवाद तुरंत करना चाहता है तो उसके लिए पेज कि सबसे ऊपरी भाग में 'Ins Trans' बटन उपलब्ध है। इस बटन को क्लिक करने पर एक पेज खुलेगा, जिसमें अनुवाद के लिए टेक्स्ट को पेस्ट करना है, इसके बाद 'Open in Editor' बटन पर क्लिक करने से एडिटर खुलता है। इसके बाद की अनुवाद की प्रक्रिया उसी तरह है जैसे कि फाइल का अनुवाद किया जाता है।

22.              How to do instant translation?

Ans. If the user has a small or urgent translation task, the provision of Instant translation is provided to facilitate him/her to directly translate his/her text rather than creating the proper file structure. For this, ‘Ins Trans’ button is available in menu ribbon. The user has to click this button and paste the source file content in the area provided, and then open the content in the editor by clicking OPEN IN EDITOR button for the translation process. The further translation process is the same as it is for file translation.

 

23. यदि फाइल को सेव किए बिना ही एडिटर को बंद कर दिया जाए तो क्या पूरा ही कार्य नष्ट हो जाता है?

उत्तर: ऐसा नहीं है कि प्रयोगकर्ता का कार्य पूरी तरह से नष्ट हो जाता है। सिस्टम स्वतः एक नियत अंतराल के बाद कार्य को एडिटर पर सेव करता रहता है। प्रयोगकर्ता जब एडिटर पर फाइल को दोबारा खोलता है तब वह फाइल उस स्थिति में होती है जिसमें या तो प्रयोगकर्ता ने कार्य को सेव किया था, अथवा सिस्टम ने अंतिम बार जिस समय कार्य को सेव किया था।

23.              Will I lose my current work progress  if I close the file without saving?

Ans. There is a threshold limit to automatically save the file at regular interval. The current work done by a user will not be completely wiped off if the user closes the file or does log out mistakenly or just wants to deliberately close the work and get a break. When the user reopens the same file after some time, he/she will find his/her work in the same state  in which it was either last saved by him/her or last saved by the system automatically..

24. किसी वाक्य का अनुवाद टी.एम. से 100% मिलता है, यह कैसे पता चलता है?

उत्तर: एडिटर पर प्रत्येक source-target column के सामने score column है। Score 100 होने का मतलब है कि यह वाक्य टी.एम. से पूरी तरह मिलता है। साथ ही, 100% मिलान की स्थिति में target column हरे रंग में रहेगा।

24.              How to identify the perfect match or exact match?

Ans. There is a score column against each source- target pair. For perfect match, the score is 100. In perfect match, the  target column will be in light green colour.

25. आंशिक मिलान को कैसे बेहतर बनाया जा सकता है?

उत्तर: जैसा कि प्रश्न 24 के उत्तर में बताया गया है कि आंशिक मिलान के लिए सिस्टम में एक प्रतिशत नियत होता है। यह सिस्टम उस प्रतिशत तक मेल खाते हुए वाक्यों को ही अनुवाद रूप में दिखाता है। आंशिक मिलान नहीं होने का एक कारण यह हो सकता है कि नियत प्रतिशत तक कोई मिलान हो पाया हो। प्रयोगकर्ता बेहतर मिलान के लिए इस प्रतिशत को बढ़ा भी सकता है। साथ ही, अनुवाद अवश्य ही प्राप्त हो, इसके लिए इस प्रतिशत को कम भी किया जा सकता है। अब प्रयोगकर्ता के सिस्टम में अनुवाद उसके द्वारा नियत नई प्रतिशत-सीमा के अनुसार आएंगे।

25.              How to improve the results of Fuzzy Match?

Ans. As mentioned in Answer 24, there is a threshold limit defined in the system for the fuzzy match. The system gives output only if the matches are above this limit. The reason of not getting fuzzy results may be that there is no match as per the defined threshold limit. In order to get better match, the user can increase this limit, as well as decrease this limit to relax the translated output. Now, the output will be as per the newly set threshold limit.

26. अनुवाद हो जाने के बाद फाइल डाउनलोड करते समय 'File does not exist' संदेश का क्या तात्पर्य है?

उत्तर: इस संदेश का तात्पर्य है कि प्रयोगकर्ता ने उस फाइल को एडिटर पर पूरी तरह से सेव नहीं किया है। अतः आप पहले एडिटर पर अपने कार्य को सेव करें और उसके बाद फाइल डाउनलोड करें।

26.              Getting "File does not exist" message when I am doing bilingual export?

Ans. Its reason may be that the file is not completely saved on editor. To solve this problem, the user should first save the editor’s state and then do the bilingual export.

27. सिस्टम से किसी फाइल/फोल्डर/प्रोजेक्ट/टी.एम. को हटाने का तरीका क्या है?

उत्तर: किसी फाइल/फोल्डर/प्रोजेक्ट को हटाने के लिए इनसे संबंधित पेज पर 'Delete' बटन उपलब्ध है। परंतु, टी.एम. को हटाने के लिए, आपको 'Show TM' बटन क्लिक करना है। इससे टी.एम. की एक सारणी दिखाई देगी। जिस टी.एम. को हटाना है, उसके सामने के 'X' बटन को क्लिक करें।

27.              How can I delete a file/folder/project/TM?

 

To delete a file/folder/Project, there is a Delete button above the table on the relevant page (for example to delete a file, the button is on file page). To delete TM, a ‘Show TM’ button is available on the menu ribbon. After clicking this button, all the TMs are shown. The user should click ‘cross button’ against the TM name to delete it.

 

28. अनुवादित फाइल को डाउनलोड कैसे किया जाता है?

उत्तर: फाइल को डाउनलोड करने के लिए एडिटर पर 'अनुवादित फाइल डाउनलोड करेंका एक बटन है। इस बटन पर क्लिक करें। अनुवाद पूरा हो जाने के बाद ही फाइल डाउनलोड की जानी चाहिए। इस फाइल में केवल अनुवादित वाक्य रहेंगे। मूल वाक्य एवं अनुवादित वाक्य - दोंनो को एक-साथ डाउनलोड करने के लिए 'द्विभाषिक फाइल डाउनलोड करेंबटन दबाएं। फाइल डाउनलोड होने के बाद आपके सिस्टम के डाउनलोड फोल्डर में रहेगी।

28. How can I download the translated file?

Ans.  On editor, there is a button ‘Download Translated file’. Click this button to download the target file. It is better to do this after the complete translation of the source file. This downloaded file will have only the translated sentences. To get both the source and target sentences, click ‘Bilingual Export’. The downloaded file is saved in the download folder of the system.